शादी के बाद भी बने रहे सम्बन्ध, प्रेमिका ने भागने को कहा तो हो गई हत्या - प्रबल सृष्टि - मध्य प्रदेश के कटनी जिले का समाचार पत्र

प्रबल सृष्टि - मध्य प्रदेश के कटनी जिले का समाचार पत्र

अज्ञानता अंधकार की निशानी है - ज्ञान उजाले का - कटनी जिले का समाचार पत्र - संपादक - मुरली पृथ्यानी

Hot

Monday, February 19, 2018

शादी के बाद भी बने रहे सम्बन्ध, प्रेमिका ने भागने को कहा तो हो गई हत्या

कटनी / जंगल में अज्ञात महिला की हत्या की गुत्थी पुलिस ने 4 दिन में सुलझा ली। महिला की शिनाख्त करते हुए पुलिस ने संदेही को गिरफ्तार किया और मामले का खुलासा कर दिया. बहोरीबंद थाना प्रभारी सुधाकर बारस्कर ने बताया कि पन्ना जिले के थाना रैपुरा में गत दिवस अधराड़ निवासी मंजो लोधी ने बेटी आरती उम्र 20 वर्ष के 8 फरवरी से गायब होने की सूचना दी  थी । जिसके बाद रैपुरा से मिली सूचना पर पीडि़त परिवार को यहां लाया गया और मृतिका के कपड़ों से शिनाख्त कराई गई, परिजनों ने उसे आरती के रूप में पहचाना और बताया कि आरती खमतरा निवासी राजू लोधी उम्र 24 वर्ष के संपर्क में थी और मोबाइल पर बातचीत करती थी। परिजनों से मिली जानकारी पर पुलिस ने राजू को गिरफ्तार किया और पूछताछ की, जिसके बाद  उसने हत्या करना कबूल लिया। गौरतलब है कि पुलिस को 13 फरवरी की सुबह अज्ञात महिला का शव मिला था। पीएम के आधार पर हत्या का प्रकरण दर्ज कर जांच की जा रही थी।
वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी राजू पूरी तरह से निडर था। उसे लगता  था कि जंगल में पुलिस को सुराग नहीं मिलेगा और मिल गया तो पुलिस मृतिका की शिनाख्त नहीं कर सकेगी। इसलिए वह मोबाइल व गहनों को घर में रखकर खुलेआम क्षेत्र में ही रहता था। जब पुलिस उसके घर पहुंची तो वह सन्न रह गया।

छुटकारा पाने के लिए हत्या करने की प्लानिंग कर चुका था
एस पी अतुल सिंह के मार्गदर्शन और एसडीओपी कमला जोशी के निर्देशन में चली जांच में गिरफ्तार आरोपी आरोपी राजू ने पूछताछ में बताया कि उसके मामा का घर अधराड़ में है वहीं इसकी पहचान आरती से हुई थी। 4 साल से उनका प्रेमसंबंध था। इस बीच राजू और आरती दोनों की अलग-अलग जगह शादी हो गई, लेकिन संबंध बना रहा था। कुछ दिन पहले आरती ने उसे शादी कर भाग चलने के लिए कहा तो उसने उसे 8 फरवरी को बाकल बुला दिया। आरती बैग, गहने सहित अपना सामान लेकर आ गई। बाइक से दोनों सगौनी स्टेशन के लिए निकले। उजाला होने के कारण पहचान उजागर न हो इसके लिए रक्सेहा के जंगल में ही शाम होने तक के लिए रूक गए। इस बीच राजू आरती से छुटकारा पाने के लिए हत्या करने की प्लानिंग कर चुका था। दोनों चलने के लिए तैयार हुए तो राजू ने पहले चाकू से उसपर हमला किया। घायल आरती जमीन पर गिरी तो गला दबाया। इसके बाद उसे चेहरे पर पत्थर पटक लिया। राजू आरती के गहने और मोबाइल अपने साथ ले आया और घर में ही छिपाकर रख दिया। 

No comments:

Post a Comment