आरटीओ के निर्माणाधीन भवन में हो रहा था शासकीय धन का दुरुपयोग - प्रबल सृष्टि - मध्य प्रदेश के कटनी जिले का समाचार पत्र

प्रबल सृष्टि - मध्य प्रदेश के कटनी जिले का समाचार पत्र

अज्ञानता अंधकार की निशानी है - ज्ञान उजाले का - कटनी जिले का समाचार पत्र - संपादक - मुरली पृथ्यानी

Hot

Saturday, October 22, 2016

आरटीओ के निर्माणाधीन भवन में हो रहा था शासकीय धन का दुरुपयोग

कटनी / शासकीय धन का दुरुपयोग व निर्माण कार्यों में धांधली और लेटलतीफी बिलकुल भी बर्दाश्त नहीं की जायेगी। इस बिल्डिंग के प्लास्टर और अब तक हुए निर्माण की संपूर्ण तकनीकी जॉंच करायें। ठेकेदार को ब्लेक लिस्टेड करें। खराब निर्माण कार्यों को तोड़कर तत्काल सुधार कार्य करायें। साथ ही नये निर्माण कार्य में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखें।
यह दो टूक, स्पष्ट व् सख्त निर्देश शनिवार दोपहर 12 बजे कटनी शहर से लगभग 6 किलोमीटर दूर मझगवां फाटक के आगे टोल प्लाजा के नजदीक परिवहन विभाग की निर्माणाधीन बिल्डिंग के निरीक्षण के दौरान कलेक्टर विशेष गढ़पाले ने दिये।
निर्माणाधीन भवन में लगभग हर जगह गुणवत्ताहीन निर्माण कार्यों को लेकर तल्ख तेवर के साथ कलेक्टर विशेष गढ़पाले  ने संबंधित अधिकारियों को भी आड़े हाथों लिया और कहा कि निमार्ण कार्यों का समय समय पर यदि आप लोगों ने निरीक्षण किया होता तो आज ये नौबत नहीं आती।
लोक निर्माण विभाग व पीआईयू के अधिकारियों को दिये कड़े निर्देश में कलेक्टर ने कहा कि, एक तकनीकी टीम बनाकर इस समस्त निर्माण कार्य की तकनीकी जॉंच करायें। भूतल व प्रथम तल के प्लास्टर की भी रेंडम जॉंच करायें। जगह-जगह आई दरारों को सुधारने के लये तत्काल सुधार कार्य करायें। फ्रंट सेक्शन के बारजे व अधूरे निर्माण कार्यों को तुड़वाकर नया निर्माण कार्य करायें। अन्य लंबित निर्माण कार्यों को भी आप लोग अपनी सतत् निगरानी में पूर्ण करायें।
निर्माण कार्य में किसी भी तरह की धांधली पर प्रशासन कड़े कदम उठायेगा। उन्होने सम्बंधित अधिकारियों व ठेकेदार को स्पष्ट चेतावनी दें कि समय सीमा के भीतर गुणवत्ता् के साथ निर्माण कार्य पूर्ण कराएं। अन्यथा नियमानुसार सख्त कार्यवाही होगी। श्री गढ़पाले ने निर्माणधीन भवन की छत पर पानी भरकर उसकी भी सूक्ष्मता से जॉंच कराने के निर्देश दिए।
उन्होने अधिकारियों को दिये कड़े संदेश में कहा कि संपूर्ण निर्माण कार्यों की जॉंच के दौरान प्रत्येक बिन्दुओं की गहन जॉंच की जाये। घटिया निर्माण कार्य का मूल्यांकन यदि संबंधित उपयंत्री ने किया हो और भुगतान हुआ हो तो संबंधित के विरुद्व भी कार्यवाही प्रस्तावित करें। नई अप्रोच रोड व फ्रंट चेंज करें।
पीआईयू के अधिकारियों ने जानकारी देते हुए बताया कि लगभग 3 एकड़ क्षेत्र में स्थापित इस आरटीओ भवन का मुख्य भाग 882.86 वर्ग मीटर में निर्मित होगा। एप्रोच रोड, दो शेड भी स्थापित किये जायेंगे। कार्य की कुल अनुमानित लागत लगभग 3 करोड़ रुपये है। निरीक्षण के दौरान आरटीओ एम.के. मिश्रा, पीडब्लयूडी के ई.ई. जे.के. तिवारी, पीआईयू के ई.ई. श्री मिश्रा, जितेन्द्र सिंह बघेल सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित थे।

No comments:

Post a Comment