कटनी जिला चिकित्सालय में शुरु हुई ई-हॉस्पिटल व्यवस्था - प्रबल सृष्टि - मध्य प्रदेश के कटनी जिले का समाचार पत्र

प्रबल सृष्टि - मध्य प्रदेश के कटनी जिले का समाचार पत्र

अज्ञानता अंधकार की निशानी है - ज्ञान उजाले का - कटनी जिले का समाचार पत्र - संपादक - मुरली पृथ्यानी

Hot

Saturday, December 02, 2017

कटनी जिला चिकित्सालय में शुरु हुई ई-हॉस्पिटल व्यवस्था

कटनी /- चिकित्सा की दिशा में मरीजों को बेहतर और सुगमता से स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ मिल सके। इस उद्धेश्य से शनिवार को जिला चिकित्सालय में ई-हॉस्पिटल सुविधा की शुरुआत हुई। जिसका विधिवत् शुभारंभ मुड़वारा विधायक संदीप जायसवाल ने रिबन काटकर किया। इस दौरान उन्होने इस सेवा के जरिये चिकित्सा सेवा में किये गये इस प्रयास को मरीजों के लिये अच्छा प्रयास बताया। जिला चिकित्सालय में ई-हॉस्पिटल के शुभारंभ अवसर पर पूर्व विधायक सुनील मिश्रा, कलेक्टर विशेष गढ़पाले और सीएमएचओ अशोक अवधिया भी मौजूद थे। प्रदेश में इस सॉफ्टवेयर का उपयोग करने वाला कटनी जिला दूसरा जिला होगा, जहां पर ई-हॉस्पिटल सॉफ्टवेयर की व्यवस्था जिला चिकित्सालय में प्रारंभ की गई है।
            शुभारंभ अवसर पर विधायक  ने ई-हॉस्पिटल के माध्यम से दी जाने वाले सेवाओं और इससे संबंधित कार्यप्रणाली की जानकारी ली। जिसे डीआईओ प्रफुल्ल श्रीवास्तव ने विस्तार से ई-हॉस्पिटल के बारे में विधायक को बताया। अधिक जानकारी देते हुये डीआईओ ने बताया कि ई-हॉस्पिटल के प्रथम फेज में बाह्य एवं आतंरिक रोगियों को सॉफ्टवेयर के माध्यम से पर्ची उपलब्ध करायी जा रही है।
 डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के तहत राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र, भारत सरकार द्वारा ई-हॉस्पिटल सॉफ्टवेयर विकसित किया गया है। यह सॉफ्टवेयर पूरी तरह से क्लाउड एवं वर्क-फ्लो आधारित है। इससे मरीजों के मेडिकल रिकॉर्ड संधारित किया जायेगा एवं देश के किसी भी शासकीय चिकित्सालय जो कि इस सॉफ्टवेयर से जुड़ा होगा, मरीज के इलाज की पूरी जानकारी देख सकेगा। वहीं इस सॉफ्टवेयर में संधारित मरीजों की मेडिकल हिस्ट्री एक क्लिक पर उपलब्ध होगी।
              ई-हॉस्पिटल के माध्यम से वर्तमान में ओपीडी, आईपीडी, बिलिंग, सोनोग्राफी, एक्सरे, पैथालॉजी, ब्लड बैंक, एनएनसीयू, मैटरनिटी, क्षय रोग और वार्ड एक्टिविटी को जोड़ा गया। है। वहीं इसके माध्यम से पेपरलैस वर्किंग के साथ साथ मॉनीटरिंग और ऑनलाईन रिपोर्टिंग से काम में आसानी होगी। वहीं दवा, उपकरणों समेत फैकल्टी की जानकारी भी सर्वर पर ऑनलाईन उपलब्ध होगी।

No comments:

Post a Comment