जागृति पार्क को बेहतर ढंग से विकसित करने तलाशी संभावनायें - प्रबल सृष्टि - मध्य प्रदेश के कटनी जिले का समाचार पत्र

प्रबल सृष्टि - मध्य प्रदेश के कटनी जिले का समाचार पत्र

अज्ञानता अंधकार की निशानी है - ज्ञान उजाले का - कटनी जिले का समाचार पत्र - संपादक - मुरली पृथ्यानी

Hot

Wednesday, November 02, 2016

जागृति पार्क को बेहतर ढंग से विकसित करने तलाशी संभावनायें

कटनी / हरियाली मन को शांति और आंखों को सुकून देती है। हरियाली की इकाई वृक्ष परोपकार का पर्याय बन नैतिक शिक्षा के जीवंत उदाहरण के रुप में स्थापित होते हैं। भीड-भाड़ भरी जिंदगी में यदि दो पल पर्यावरण की गोद में बिताने को मिलें, तो सारी थकान चुटकियों में रफू हो जाती है। इसी उद्वेश्य से शहर मे जागृति पार्क एैसे स्पॉट के रुप मे विकसित करने के लिये पर्यावरण विकास समिति की बैठक बुधवार को जागृति पार्क में हुई। बैठक में शामिल होने जागृति पार्क पहुंचे कलेक्टर विशेष गढ़पाले ने पूरे पार्क का भ्रमण किया। इस दौरान उन्होने पार्क की भव्यता को निहारा साथ ही और अधिक बेहतर करने के लिये क्या कार्य किये जा सकते हैं, इन संभावनाओं की भी तलाश की।
कितने एकड़ के फैला है ये पार्क ?


            पर्यावरण विकास समिति की बैठक में शामिल होने बुधवार को जागृति पार्क पहुंचे कलेक्टर श्री गढ़पाले ने पार्क का भ्रमण करते हुए समिति सदस्यों से पूछा कि, कितने एकड़ में बना है ये पार्क ? ट्रेन चलती है ? कितने बजे से कितने बजे तक चलने का समय है ? इसके साथ ही उन्होने जागृती पार्क का निरीक्षण किया तथा उपलब्ध सुविधाओं की जानकरी ली। इस अवसर पर कलेक्टर ने समिति के सदस्यों को भोपाल एवं वाशिंगटन में बने पार्को मे उपलब्ध सुविधाओं के विषय में भी बताया। इस दौरान समिति सदस्यों ने पार्क के विषय में बताया कि लगभग 11 एकड़ मे पार्क बना हुआ है। पार्क से 7 एकड़ जमीन और लगी है। इस जमीन को पार्क में शामिल किये जाने के सबंध मे चर्चा जा रही है।
साइंस पार्क भी देखा
     समिति की बैठक के दौरान समिति के सचिव डॉ संजय निगम ने बताया कि मध्यप्रदेश का पहला साइंस पार्क कटनी का है। इसे स्टेट गर्वमेंट के फंड से बनाया गया है। कलेक्टर विशेष गढ़पाले ने सांइस पार्क का भी निरीक्षण किया। उन्होने वहां लगे उपकरणो के बारे मे जानकारी ली। कलेक्टर ने कहा कि पार्क में लगे उपकरण अच्छे हैं। इनसे विज्ञान के संबध मे जानकारी मिलेगी। इनका मेन्टेनेंस कराने की जरूरत है। इस दौरान म्यूजिकल फाउंटेन लगाने के विषय पर भी चर्चा की गई।
सीसी जारी करने के दिये निर्देश
बैठक में समिति के खातो में हुये लेनदेन की जानकारी भी समिति सदस्यों को दी गई। कलेक्टर श्री गढ़पाले ने निर्देश देते हुए कहा कि लेखा संधारण व्यवस्थित रहे यह सुनिश्चित करें। इस दौरान समिति के सदस्यों ने बताया कि कुछ कार्यो की सीसी आरईएस विभाग द्वारा जारी नही की है। इस संबध में सीसी जारी करने के निर्देश आरईएस विभाग को उन्होने दिये। साथ ही कलेक्टर नेे संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि, पार्क से लगी जो माइंस है, उसके संचालक द्वारा मांइनिग की भूमि के आस-पास वृक्षा रोपण करायें। आगामी बैठक में उन्हे बुलाकर इसके संबंध में जानकारी ली जाये।
अगली बैठक की डेट 1 दिसंबर
बैठक में पार्क में अन्य सुविधायें उपलब्ध कराने के लिये समिति के सदस्यों ने चर्चा कि जिसमे योग के लिये हाल, वाटर कूलर, म्यूजिकल फाउटेन, वॉच टावर बनाने के विषय पर समिति सदस्यों ने अपने सुझाव दिये। इस दौरान कलेक्टर श्री गढ़पाले ने कहा कि पार्क मे आने वालो के लिए और सुविधा उपलब्ध कराने के लिये समिति बेहतर कार्य करे। इसमें पार्क के ट्रैक पर म्यूजिक के लिये व्यवस्था, बैठने के लिये अधिक बैचों की व्यवस्था, ओपन जिम एवं सेट की व्यवस्था, पर्याप्त पानी की व्यवस्था पर चर्चा करते हुये कार्ययोजना तैयार करने के लिये उन्होने निर्देश दिये। इसके साथ-साथ वाटर पार्क बनाने के समिति सदस्यों के सुझाव पर कलेक्टर ने इसके लिये एंजेसीयों से चर्चा कर कार्ययोजना तैयार की बात कही। साथ ही अगली बैठक 1 दिसंबर को आयोजित करने के निर्देश भी उन्होने दिये।बैठक मे नगर निगम आयुक्त संजय जैन भी उपस्थित रहे।

No comments:

Post a Comment